कच्चे माल की लागत में तेजी का असर: अप्रैल-मई में दोबारा महंगे हो सकते हैं वाहन; महिंद्रा, रॉयल एनफील्ड, बजाज और अशोक लेलैंड ने दिए संकेत

0
1


  • Hindi News
  • Tech auto
  • Vehicles Price Hike Agian; Vehicle Prices May Rise Again In April May; Mahindra, Royal Enfield, Bajaj And Ashok Leyland Indicated

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कच्चे माल की लागत में वृद्धि होने से वाहनों की कीमत में एक बार फिर बढ़ोतरी हो सकती है। कंपनियों ने 1-3% तक की बढ़ोतरी के संकेत दिए हैं। महिंद्रा एंड महिंद्रा, आयशर मोटर्स और अशोक लेलैंड अप्रैल-मई में कीमतों में बढ़ोतरी कर सकती हैं, ताकि स्टील, एल्यूमीनियम और अन्य धातुओं की लागत में बढ़ोतरी को बेअसर किया जा सके। मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज की रिपोर्ट के अनुसार, जनवरी 2021 में भारत में स्टील खपत 9% सालाना और 3% माह-दर-माह बढ़कर 9.97 मिलियन टन हो गई है।

कमर्शियल वाहनों के साथ एनफील्ड मोटरसाइकिलों की कीमतें भी बढ़ेगी- आयशर
आयशर मोटर्स के एमडी, सिद्धार्थ लाल ने कहा- हम शायद अप्रैल में फिर से कीमतें बढ़ाएंगे। अब तक, हम भारत में और विश्व स्तर पर उत्पादों के बेहतर मिश्रण का उपयोग कर चुके हैं, लेकिन कच्चे माल की कीमतों में बढ़ोतरी की हमारी क्षमता की तुलना में तेजी से बढ़ी है। वृद्धि दोनों कमर्शियल वाहनों के साथ-साथ रॉयल एनफील्ड मोटरसाइकिलों में भी होगी।

कीमतों को बढ़ाने के अलावा कोई विकल्प नहीं- अशोक लेलैंड
अशोक लेलैंड के सीईओ और डायरेक्टर गोपाल महादेवन ने कहा कि हम पहले ही अक्टूबर में और दूसरी बार जनवरी में बढ़ोतरी कर चुके हैं। लेकिन स्टील की कीमतों और विशेष धातुओं में तेजी से वृद्धि हुई है। अगर यह जारी रही, तो हमारे पास कीमतों को बढ़ाने के अलावा कोई विकल्प नहीं होगा।

भारत को तेजी से बढ़ते बाजार के तौर पर देखा जा रहा है, ऐसे में उम्मीद की जा रही है कीमतों में बढ़ोतरी बाजार में अवशोषित हो जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि ट्रक निर्माताओं को यह बढ़ोतरी परेशान कर सकती है, क्योंकि पहले ही बीएस 6 एमिशन नॉर्म्स लागू होने के साथ कीमतों में काफी बढ़ोतरी की गई थी। हमने बीएस6 के कारण तीसरी तिमाही से ही कीमतों में बढ़ोतरी करना शुरू कर दिया था। ट्रक उद्योग अप्रैल-दिसंबर की अवधि में 54% घटा।

एसयूवी, कमर्शियल वाहनों समेत महिंद्रा रेंज में बढ़ोतरी होगी- महिंद्रा
राजेश जेजुरिकर, महिंद्रा समूह के ईडी (ऑटो और फार्म सेक्टर) ने कहा कि कच्चे माल की कीमतों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है और हम वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में कीमत में बढ़ोतरी करेंगे। वर्तमान में, सेमी-कंडक्टर की सप्लाई में व्यवधान जारी है, लेकिन यह जून-जुलाई में सामान्य होना चाहिए। उन्होंने कहा, एसयूवी और कमर्शियल वाहनों सहित महिंद्रा रेंज के सभी वाहनों में बढ़ोतरी की उम्मीद है।

100 टन का ऑर्डर दो तो 20-30 टन ही मिल रहा है- बजाज
विकास बजाज, एसोसिएशन ऑफ इंडियन फोर्जिंग इंडस्ट्री के अध्यक्ष ने कहा कि स्टील मिलों ने जनवरी में 7,250 रुपए प्रति टन की एक और बढ़ोतरी देखी। बजाज ने कहा कि अब ओईएम और स्टील मिलों के बीच चर्चा चल रही है और कुछ बढ़ोतरी करने पर सहमति हुई है, लेकिन समस्या सप्लाई की है। अगर मैं 100 टन का ऑर्डर देता हूं, तो मुझे केवल 20-30 टन ही मिल रहा है।

स्टील की कीमतों में बढ़ोतरी ने फोर्जिंग स्टील निर्माताओं को भी प्रभावित किया है, क्योंकि स्टील आमतौर पर फोर्जिंग के मूल्य का 60-65% होता है। बजाज ने आगे कहा कि घरेलू स्टील निर्माताओं ने फॉर्जिंग क्वालिटी वाला स्टील बनाने के लिए तीसरी तिमाही में दो बार कीमतें बढ़ाई हैं और अन्य प्रकार के स्टील के लिए अक्टूबर-दिसंबर की अवधि में तीन गुना कीमतें बढ़ी।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here