नाइट कर्फ्यू से दिल्ली में देर रात तक चलने वाले रेस्तरां के लिए बढ़ी हुई मुश्किलें हैं

0
9


दिल्ली नाइट कर्फ्यू, दिल्ली नाइट कर्फ्यू रेस्तरां सेक्टर, नाइट कर्फ्यू रेस्तरां सेक्टर- इंडिया टीवी हिंदी
छवि स्रोत: पीटीआई कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर दिल्ली में आगामी 30 अप्रैल तक रात 10 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा।

नई दिल्ली: कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर दिल्ली में मंगलवार रात से लेकर आगामी 30 अप्रैल तक रात 10 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा। इस आदेश के बाद दिल्ली के रेस्तरां संचालकों के सामने अब फिर से कठिनाइयां बढ़ गई हैं। दिल्ली में अक्सर लोग रात के वक्त ही अपने परिजनों और दोस्तों के साथ बाहर निकलकर कुछ खाने के लिए रेस्तरां जाते हैं। ऐसे में अब नाइट कर्फ्यू लगने के बाद इसपर पाबन्दियां लगनी होगी, जिसके बाद देर रात तक चलने वाले रेस्तरां को जल्द ही अपना कामकाज बंद करना होगा।

‘रात में दिल्ली में कौन घूमता है?’

दिल्ली होटल्स एंड रेस्टोरेंट ओनर्स एसोसिएशन के वाइस प्रेसिडेंट महेंद्र गुप्ता ने कहा, ‘दिल्ली सरकार कुछ भी आदेश दे रही है, रात में दिल्ली में कौन घूमता है? जिसको जरूरी काम होता है वही निकलता है। रात को अगर फ्लाइट आ रही है तो वह व्यक्ति होटलल्स में कैसे जाएगा। सुबह 5 बजे कौन उठता है? बिना नाइट कर्फ्यू के भी कोरोना के मामले बढ़े थे, सरकार ज्यादा वैक्सीन लगवाए। ताकि कोरोना को रोका जा सके। लोगों ने नियमों में लापरवाही बरती जिसके कारण मामले बढ़ रहे हैं। होटलल्स और रेस्टोरेंट्स पर इस कर्फ्यू पर बहुत फर्क पड़ेगा। पिछले साल कोरोना से होटल, रेस्तरां और बैंक्वेट हॉल बहुत सस्ते में रहे, लेकिन सरकार इसपर तवज्जो नहीं दे पाई है। ‘

कनॉट प्लेस पर भी असर पड़ेगा
देश की राजधानी दिल्ली में नए कोरोनावायरस और पहले से ही मौजूद को विभाजित -19 के चलते हुए दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कड़ा फैसला लिया। दिल्ली के उन मार्केटों पर भी इसका असर पड़ेगा जो देर रात तक खुले रहते हैं, जिनमें से एक कनॉट प्लेस मार्केट भी है। यहां मौजूद अन्य दुकानों के अलावा रेस्तरां पर भी इस कर्फ्यू का असर पड़ेगा। हालांकि कनॉट प्लेस के एसोसिएशन ने दिल्ली सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है। नई दिल्ली ट्रेडर्स एसोसिएशन (NDTA) के एक्सिक्यूटिव मैम्बर अमित गुप्ता ने कहा, ‘हमारी एसोसिएशन दिल्ली सरकार के अनुसार निर्णय इससे समर्थन देता है, हालांकि इसमें कुछ कठिनाइयाँ जरूर होंगी। 10 बजे कर्फ्यू लगने का मतलब है कि बाजार को 9 बजे ही बंद कर देंगे। हमारे बाजार में रेस्तरां में रात 8 बजे के बाद ही आरक्षण समाप्ति होती है। ‘

‘हमारा व्यापार रात में ही होता है’
कनॉट प्लेस 38 बैरेक्स में स्थित है रेस्तरां के मालिक अंकुर अग्रवाल ने कहा, ‘हमारा व्यापार 9 बजे के बाद से ही शुरू होता है। लेकिन इस आदेश के बाद अंतिम तिथि साढ़े 8 बजे तक का ही लेना होगा, इसका मतलब स्टाफ को 9 बजे तक निकासी करना होगा। हम सरकार से गुमराह कर रहे हैं कि हमारी अनुक्रमिक का ध्यान रखें। नाइट कर्फ्यू हमारे लिए लॉकडाउन ही है। हमारा व्यापार रात में ही होता है। हम पिछले लॉकडाउन की चोटों के कारण हैं। ‘ वास्तव में इस आदेश के तहत सार्वजनिक स्थान पर लोग इकट्ठा नहीं होते हैं। सार्वजनिक स्थानों पर लोगों का कोई भी जमाव रात 10:00 बजे से सुबह 5 बजे तक नहीं हो सकेगा। इस दौरान किसी भी तरह की कोई सामाजिक, राजनीतिक और धार्मिक गतिविधि संभव नहीं है। (आईएएनएस)





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here