रेलवे की ‘बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट’ से बढ़ी आय, व्यापारियों को मिला लाभ

0
3


Photo:INDIAN RAILWAYS

रेलवे की ‘बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट’ से बढ़ी आय, व्यापारियों को मिला लाभ

पटना: रेल मंत्रालय ने वर्ष 2024 तक माल ढुलाई दोगुना करने के लिए गठित ‘बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट’ (बीडीयू) का लाभ अब दिखने लगा है। पूर्व मध्य रेलवे द्वारा वैसी सामग्रियों की भी ढुलाई प्रारंभ कर दी गई है, जिसका परिवहन अब तक सड़क मार्ग से किया जाता था। रेलवे का दावा है कि इससे रेलवे की आय में वृद्धि हो ही रही है तीव्र, किफायती और सुरक्षित माल ढुलाई की बेहतर सेवा से व्यापारी भी काफी लाभान्वित हो रहे हैं। पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि धनबाद मंडल द्वारा पहली बार बोकारो थर्मल पावर स्टेशन साइडिंग से स्टार सीमेंट (पूर्व तटीय रेल) के लिए फ्लाई एश की लोडिंग की गई, जिससे 30 लाख रुपये राजस्व प्राप्त हुआ।

इसी क्रम में पंडित दीन दयाल उपाध्याय मंडल (डीडीयू) द्वारा जनवरी, 2021 में माल ढुलाई से प्राप्त आय में 43 प्रतिशत जबकि पार्सल से प्राप्त आय में 7.78 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। उन्होंने बताया कि पंडित दीन दयाल उपाध्याय मंडल द्वारा बीडीयू के प्रयासों से अब कई ऐसी वस्तुओं का भी रेलमार्ग से परिवहन प्रारंभ हुआ है, जिसका परिवहन अब तक सड़क मार्ग द्वारा किया जा रहा था। इन वस्तुओं में साड़ी, चिरौंजी, पेपर रोल, मोटर पम्प एवं पीतल निर्मित सामान शामिल हैं।

धनबाद मंडल से छोटे व्यापारियों की सुविधा के लिए हरी सब्जियां एवं बीड़ी की पार्सल द्वारा ढुलाई भी प्रारंभ की गई है। धनबाद मंडल द्वारा जनवरी में 5 रेक फ्लाई एश, 28 रेक रेड मड तथा 3 रेक धान की लोडिंग की गई।

उन्होंने बताया कि जनवरी माह में दानापुर मंडल के चाकंद गुड्स शेड से बीडीयू के तहत किये गये प्रयासों से पहली बार लोडिंग प्रारंभ हुई और अब तक वहां से 9 रेक धान की लोडिंग की जा चुकी है, जिससे लगभग 3 करोड़ का राजस्व रेलवे को प्राप्त हुआ है। जनवरी में पहली बार दानापुर मंडल के सिर्फ शेखपुरा से 50 रैक की लोडिंग हुई जो अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

इन प्रयासों से जनवरी में पिछले साल की तुलना में दानापुर मंडल को माल यातायात से होने वाली आय में 105 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई है। इसी तरह सोनपुर मंडल द्वारा भी फ्लाई एश की लोडिंग की दिशा में प्रयास जारी है। 20 जनवरी, 2021 से सोनपुर मंडल द्वारा दुग्ध पार्सल सेवा पुन: शुरू कर दी गई है। इससे मंडल को अनुमानत: प्रतिमाह 10 लाख रूपए का राजस्व प्राप्त होगा।

बीडीयू के प्रयासों के बाद समस्तीपुर मंडल के रमगढ़वा से एक मिनी रेक चावल की लोडिंग की गई। समस्तीपुर मंडल द्वारा चालू वित्त वर्ष में अब तक 566 वैगन चीनी का लदान किया गया, जिससे मंडल को 4.67 करोड़ रुपये की आय प्राप्त हुई। उल्लेखनीय है कि सड़क मार्ग से की जा रही सामान की ढुलाई को रेलमार्ग की ओर आकर्षित करने के लिए बिजनेश डेवलपमेंट यूनिट का गठन किया गया है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here