2024 तक अनुमान: सेल्युलर IoT मॉड्यूल शिपमेंट में भारत करेगा लीड, दुनियाभर में इसका रेवेन्यू 83 हजार करोड़ रुपए होगा

0
7


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • भारत को इसमें 38% की जबरदस्त ग्रोथ मिलने की उम्मीद है
  • दुनियाभर में शिपमेंट 2024 तक 78 करोड़ यूनिट को पार करेगा

दुनियाभर में सेल्युलर IoT (इंटरनेट ऑफ थिंक्स) मॉड्यूल शिपमेंट 2024 तक 780 मिलियन (78 करोड़) यूनिट को पार तक जाएगा। इसका रेवन्यू करीब 11.5 बिलियन डॉलर (83 हजार करोड़ रुपए) हो जाएगा। काउंटरपॉइंट की रिसर्च के मुताबिक, भारत इसमें 38% की जबरदस्त ग्रोथ के साथ लीड करेगा। नैरोबैंड इंटरनेट ऑफ थिंग्स (NB-IoT) सेल्युलर IoT मॉड्यूल शिपमेंट को लीड करेगा।

काउंटरपॉइंट टेक्नोलॉजी मार्केट रिसर्च के एसोसिएट डायरेक्टर, जान स्ट्रीजक ने कहा, “NB-IoT की वृद्धि चीन को सेल्युलर मॉड्यूल बाजार में दूसरे क्षेत्रों की तुलना में आगे रखेगा। हालांकि, भारत में इसकी 38% ग्रोथ होने की उम्मीद है। देश के प्रमुख टेलीकॉम ऑपरेटर्स जैसे जियो, Vi, एयरटेल और BSNL भारत में सेल्युलर मॉड्यूल शिपमेंट में मदद करेंगे।

क्वालकॉम के पास दुनियाभर में चिपसेट बाजार का आधा हिस्सा होगा
2024 तक सेल्युलर IoT मॉड्यूल शिपमेंट में चीन इसका सबसे बड़ा बाजार होगा। वहीं, नॉर्थ अमेरिका यूरोप को टेकओवर करते हुए दूसरे सबसे बड़ा बाजार बन जाएगा। काउंटरप्वाइंट रिसर्च के ग्लोबल सेल्युलर IoT मॉड्यूल और चिपसेट फॉरकास्ट के अनुसार, 5G वैल्यू के मामले में लीड करेगा, जबकि NB-IoT मार्केट वॉल्यूम के मामले में आगे बढ़ेगा। माना जा रहा है कि 2024 तक क्वालकॉम के पास दुनियाभर में सेल्युलर IoT चिपसेट बाजार का लगभग आधा हिस्सा होगा।

2021 में स्मार्टफोन इंडस्ट्री में होगी 10% की ग्रोथ
भारतीय स्मार्टफोन मार्केट का इस साल 10% की ग्रोथ मिलने की उम्मीद है। वहीं, 5G फोन की शिपमेंट 30 मिलियन (3 करोड़) यूनिट्स से ज्यादा रहेगा। मार्केट रिसर्च फर्म CMR ने अपनी रिपोर्ट में बातें कही हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, 5G नेटवर्क 2022 के आखिर या 2023 की शुरुआत तक उपलब्ध नहीं होगा। इसके बाद भी वनप्लस और रियलमी जैसी कंपनियां 5G रेडी डिवाइस को तेजी से लॉन्च करेंगी।

2020 के दूसरी छमाही में रिकॉर्ड शिपमेंट हुआ
2020 की पहली छमाही में स्मार्टफोन शिपमेंट बड़ी गिरावट रही। हालांकि, 2020 की दूसरी छमाही में इस सेगमेंट में तेजी से रिकवरी हुई है। दूसरी छमाही में स्मार्टफोन का शिपमेंट पहली बार 100 मिलियन (10 करोड़) यूनिट से अधिक रहा। फेस्टिवल सीजन के दौरान मिलने वाले डिस्काउंट और ऑफर्स भी इसकी बड़ी वजह रही।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here