5 Reasons Too Much Sleep Can Be Harmful For You | Techkashif – Tech Kashif

JOIN NOW

  • क्या आप हर दिन सो रहे हैं? हो सकता है कि आप खुद को कई तरह की बीमारियों के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हों।

– विज्ञापन-

04 जनवरी, 2022 को 05:49 PM IST पर प्रकाशित 6 तस्वीरें

  • पेज इमेज 2021 06 04T100608.885 1622781550775 1622781583341 - स्कैली कीड़ा
    पेज इमेज 2021 06 04T100608.885 1622781550775 1622781583341 - स्कैली कीड़ा

/

– विज्ञापन-

स्ट्रोक का बढ़ा जोखिम: हाल के अध्ययनों से पता चला है कि प्रति रात नौ घंटे से अधिक सोने से व्यक्ति को स्ट्रोक का खतरा हो सकता है और स्ट्रोक का खतरा 85 प्रतिशत तक बढ़ सकता है।

स्ट्रोक का बढ़ा खतरा: हाल के शोधों ने साबित किया है कि प्रति रात 9 घंटे से अधिक सोने से व्यक्ति को स्ट्रोक का खतरा हो सकता है और स्ट्रोक का खतरा 85 प्रतिशत तक बढ़ सकता है।

04 जनवरी, 2022 को 05:49 PM IST पर प्रकाशित

/

वजन बढ़ना: हर दिन बहुत अधिक सोने से आपका वजन बढ़ सकता है क्योंकि आप सोते समय अपने जागने के समय की तुलना में कम कैलोरी बर्न करते हैं जब आपके अधिक सक्रिय होने की संभावना होती है।  अध्ययनों के अनुसार, जो लोग 9-10 घंटे सोते हैं उनका वजन औसत सोने वालों की तुलना में 5 किलो अधिक होता है।

वजन बढ़ना: हर दिन बहुत अधिक सोने से आपका वजन बढ़ सकता है क्योंकि आप अपने जागने के अवसरों की तुलना में सोते समय बहुत कम ऊर्जा जलाते हैं जब आपके अधिक सक्रिय होने की संभावना होती है। शोध के अनुसार, जो लोग 9-10 घंटे सोते हैं, उनका वजन आम स्लीपरों की तुलना में 5 किलो अधिक होता है।

04 जनवरी, 2022 को 05:49 PM IST पर प्रकाशित

– विज्ञापन-

/

हृदय रोग: अधिक सोने से आप आंत की चर्बी जमा कर सकते हैं जो लीवर और आंतों जैसे आंतरिक अंगों में जमा हो जाती है।  ओबेसिटी नामक पत्रिका के एक अध्ययन के अनुसार, इस प्रकार की वसा उच्च कोलेस्ट्रॉल, मधुमेह और हृदय रोगों जैसे चयापचय संबंधी विकारों को जन्म दे सकती है।

दिल की बीमारी: अधिक सोने से आप आंत की चर्बी जमा कर सकते हैं जो लीवर और आंतों जैसे अंदर के अंगों में जमा हो जाती है। ओबेसिटी पत्रिका में एक अध्ययन के अनुसार, इस प्रकार की वसा उच्च एलडीएल कोलेस्ट्रॉल, मधुमेह और हृदय रोग जैसी चयापचय संबंधी समस्याओं का परिणाम हो सकती है।

04 जनवरी, 2022 को 05:49 PM IST पर प्रकाशित

– विज्ञापन-

/

मधुमेह: हर रात आठ घंटे से अधिक सोने से मधुमेह और ग्लूकोज असहिष्णुता विकसित होने का खतरा बढ़ सकता है। (पिक्साबे)

मधुमेह: हर शाम आठ घंटे से अधिक सोने से आपके बढ़ते मधुमेह और ग्लूकोज असहिष्णुता के खतरे में सुधार हो सकता है। (पिक्साबे)

04 जनवरी, 2022 को 05:49 PM IST पर प्रकाशित

/

कम मस्तिष्क कार्य: 7-8 घंटे की नींद आपके मस्तिष्क को तेज रख सकती है, लेकिन अमेरिकन जेरियाट्रिक्स सोसाइटी के जर्नल में हार्वर्ड के शोधकर्ताओं के अनुसार, इसकी अवधि को 9 घंटे या उससे अधिक तक बढ़ाने से मस्तिष्क की कार्यक्षमता कम हो सकती है।

कम दिमाग का प्रदर्शन: 7-8 घंटे की नींद आपके दिमाग को तेज रख सकती है, हालांकि 9 घंटे या उससे अधिक की लंबाई बढ़ने से दिमाग का प्रदर्शन कम हो सकता है, जैसा कि हार्वर्ड के शोधकर्ताओं ने जर्नल ऑफ अमेरिकन जेरियाट्रिक्स सोसाइटी में किया है। (पिक्सैबे)

04 जनवरी, 2022 को 05:49 PM IST पर प्रकाशित

/

– विज्ञापन-

(*5*)

स्ट्रोक का बढ़ा खतरा: हाल के शोधों ने साबित किया है कि प्रति रात 9 घंटे से अधिक सोने से व्यक्ति को स्ट्रोक का खतरा हो सकता है और स्ट्रोक का खतरा 85 प्रतिशत तक बढ़ सकता है।

04 जनवरी, 2022 को 05:49 PM IST पर प्रकाशित