JCB इंडिया ने CEV स्‍टेज IV बैकहो लोडर्स की श्रृंखला लॉन्‍च की

0
5


Photo:JCB

JCB इंडिया ने CEV स्‍टेज IV बैकहो लोडर्स की श्रृंखला लॉन्‍च की

बल्‍लबगढ़: जेसीबी इंडिया लिमिटेड ने बल्‍लबगढ़ (दिल्‍ली-एनसीआर) के अपने मुख्‍यालय में सीईवी स्‍टेज IV बैकहो लोडर्स की अपनी नई श्रृंखला को हरी झंडी दिखाई है। इस श्रृंखला में नये 3डीएक्‍स प्‍लस, 3डीएक्‍स एक्‍स्‍ट्रा, 3डीएक्‍स सुपर और 4डीएक्‍स शामिल हैं, जो ग्राहकों के लिए तरह-तरह के प्रयोग की जरूरतों को पूरा करते हैं। नई बैकहो लोडर श्रृंखला सुस्‍थापित और प्रतिष्ठित 55केडब्‍ल्‍यू जेसीबी इकोमैक्‍स डीजल इंजन से पावर्ड है।

यह सीईवी स्‍टेज IV इंजन पर्यावरण-हितैषी है और प्रमाणित सीआरडीआई टेक्‍नोलॉजी, वेस्‍ट-गेट टर्बोचार्जर और टू-स्‍टेज कूलिंग ईजीआर सिस्‍टम के साथ आता है। इस इंजन की एक अनोखी खासियत यह है कि इसमें एक अत्‍याधुनिक कम्‍बस्‍टन सिस्‍टम है, जो आफ्टर-ट्रीटमेंट, डीओसी (डीजल ऑक्‍सीडेशन कैटलिस्‍ट) या डीपीएफ (डीजल पार्टिक्‍युलेट फिल्‍टर) की जरूरत को खत्‍म करता है। इस इंजन को ऊंची जगहों पर कोई डेरेशन नहीं होता है और इस प्रकार यह पर्वतीय क्षेत्रों में ग्राहकों और यूजर्स को बहुत फायदा देता है।

 
इस अवसर पर जेसीबी इंडिया के सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्‍टर दीपक शेट्टी ने कहा, ‘जेसीबी ने भारत में अपने परिचालन के चार दशकों में हमेशा टेक्‍नोलॉजी में निवेश किया है। जेसीबी बैकहो लोडर्स की यह नई श्रृंखला न केवल उत्‍सर्जन के नये मानकों पर खरी है, बल्कि ग्राहकों को ज्‍यादा विश्‍वसनीयता, विस्‍तारित उत्‍पादनशीलता और परिचालन की कम लागत देकर उन्‍हें ज्‍यादा लाभ उठाने की समर्थता प्रदान करेगी। इन मशीनों को इनके लॉन्‍च से पहले देशभर में सभी संभावित प्रयोगों के लिये व्‍यापकता से परखा गया है।’

इसके साथ ही, लोकप्रिय जेसीबी बैकहो लोडर अब ईंधन की ज्‍यादा बचत करता है और ज्‍यादा उत्‍पादनशील भी है। 3डीएक्‍स प्‍लस सीईवी स्‍टेज IV मशीन इको मोड में 7 प्रतिशत ज्‍यादा ईंधन बचाती है और प्‍लस मोड में आउटगोइंग मॉडल की तुलना में 25 प्रतिशत ज्‍यादा उत्‍पादनशीलता देती है। इसमें ऑटो आइडल और ऑटो स्‍टॉप जैसे फीचर्स हैं, जो ईंधन की बर्बादी कम करते हैं और एफिशिएंसी बढ़ाते हैं। इसके अलावा, 400 एनएम का उच्‍च टॉर्क और साइट की विभिन्‍न स्थितियों के लिये तीन एक्‍सकेवेशन मोड्स- इको, स्‍टैण्‍डर्ड और प्‍लस, आउटपुट की जरूरतों को पूरा करने के लिये मशीन की अनुकूलता बढ़ाते हैं।

 

उन्‍होंने आगे कहा, ‘चूंकि इन नये उत्‍सर्जन मानकों को अपनाने के लिये टेक्‍नोलॉजी में महत्‍वपूर्ण क्रमबद्ध बदलाव की जरूरत है, इसलिये हमने अपने डीलर्स और सर्विस सपोर्ट टीमों के प्रशिक्षण और स्किलिंग में भारी निवेश किया है।’ हाइड्रोलिक ऑयल चेंज पीरियड अब 2000 घंटे से बढ़ाकर 4000 घंटे कर दिया गया है और हाइड्रोलिक ऑयल की मात्रा को 20 लीटर कम किया गया है। इससे आवधिक रख-रखाव की लागत 15 प्रतिशत कम हुई है और स्‍वामित्‍व की कुल लागत में महत्‍वपूर्ण सुधार हुआ है।

इसके अलावा, ट्रिप मीटर के साथ नया डिजिटल डिस्‍प्‍ले, एसओएस स्विच और गाइड मी होम लाइट्स परिचालन को आसान बनाता है और ऑपरेटर को बेहतर सुरक्षा देता है। सर्विस इंजिनियरों के लिये ‘इंटेलिडायग्‍नोस्टिक’ सिस्‍टम खराबियों को जल्‍दी पहचान कर ठीक करने में मदद करता है, जिससे मशीन की ज्‍यादा उत्‍पादनशीलता सुनिश्चित होती है। जेसीबी के पास देश में एक व्‍यापक डीलर नेटवर्क है। इसके 60 से ज्‍यादा डीलर्स और 700 से ज्‍यादा आउटलेट्स पर प्रशिक्षित मैनपावर है और हर लोकेशन पर पार्ट्स का पर्याप्‍त भंडार है। इससे सुनिश्चित होता है कि ग्राहकों को पेशेवर प्रोडक्‍ट सपोर्ट और पूरी मानसिक शांति मिले, चाहे वे देश में कहीं से भी जेसीबी कंस्‍ट्रक्‍शन इक्विपमेंट खरीदें। 

इस मशीन में जेसीबी की एडवांस्‍ड टेलीमेटिक्‍स टेक्‍नोलॉजी- जेसीबी लाइवलिंक भी होगी। इसके माध्‍यम से, मशीनों को ड्यूटी साइकल डिटेल्‍स के साथ रियल-टाइम में ट्रैक और मॉनिटर किया जा सकता है। यह टेक्‍नोलॉजी ऑनलाइन या एक मोबाइल ऐप्‍लीकेशन के जरिये मशीन की सर्विस, ऑपरेशंस और सिक्‍योरिटी पर अपडेट्स भी देती है। अब तक लगभग 1,80,000 लाइवलिंक इनैबल्‍ड जेसीबी मशीनों की बिक्री हो चुकी है। इन्‍हें जीपीएस के माध्‍यम से जियो-फेंस्‍ड, टाइम-फेंस्‍ड और लोकेट किया जा सकता है। ग्राहक अपने मोबाइल डिवाइसेस पर मशीन की हेल्‍थ, फ्यूल लेवल, बैटरी की स्थिति और अपनी फ्लीट के लगभग सभी महत्‍वपूर्ण मापदंडों को जान सकते हैं। यह मशीन के सर्विस रिमाइंडर्स और हिस्‍ट्री भी देती है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here